Dwarkadheeshvastu.com
                   
वास्तु के अनुसार शुभ प्लॉट / भवन
नीचे कुछ प्लॉट/भवन प्राकृतिक स्थितियों में दिखाए गए हैं। कोई भी प्लॉट/भवन नीचे दिखाई गई प्राकृतिक स्थितियो में होने पर अत्यधिक शुभ होता है। इस तरह के भवन में गम्भीर वास्तु दोष होने पर भी उसका प्रभाव आंशिक ही रहता है।
प्लॉट/भवन के चारो तरफ सडक होने पर :

किसी प्लॉट/भवन के चारो तरफ सड़क होने पर यह अत्यधिक शुभ होता है। इस भवन के निवासी स्वस्थ, निर्मल स्वभाव, धर्म-कर्म में रूचि रखने वाले व सन्त प्रवृत्ति के होंगे। समाज में इनको उच्च स्थान की प्राप्ति होगी व धन की समस्या नहीं रहेगी।
प्लॉट/भवन सड़क टक्कर होने पर :
प्लॉट/भवन के दिखाए गए भागों में सडक टक्कर अत्यधिक शुभ है।
दिशा प्लॉट
नार्थ-ईस्ट सड़क टक्करः प्लॉट/भवन के नार्थ-ईस्ट कोने पर सडक टक्कर होने पर निवासी बुद्विमान, धार्मिक, मेहनती, ईमानदार, शिक्षित व उच्च पद पर कार्यरत व धन की प्राप्ति होगी। घर के मुखिया व पहली संतान को विशेष लाभ मिलेगा।
नार्थ-नार्थईस्ट सड़क टक्करः प्लॉट/भवन के नार्थ-नार्थईस्ट भाग में सड क टक्कर होने पर महिलाएँ बुद्विमान, धार्मिक, निर्मल स्वभाव, शिक्षित व उच्च पद पर कार्यरत होंगी। पुरूष महिलाओं की अपेक्षा कमजोर रहेंगे। पहली संतान स्त्री होने पर वह स्वस्थ व सुखी रहेगी।
ईस्ट-नार्थईस्ट सड़क टक्करः प्लॉट/भवन के ईस्ट-नार्थईस्ट भाग में सडक टक्कर होने पर पुरूष बुद्विमान, धार्मिक, मेहनती, ईमानदार, शिक्षित व उच्च पद पर कार्यरत होंगे। पहली संतान पुरूष होने पर वह स्वस्थ व सुखी रहेगा।
वेस्ट-नार्थवेस्ट सड़क टक्करः प्लॉट/भवन के वेस्ट-नार्थवेस्ट भाग में सडक टक्कर होने पर पुरूष बुद्विमान, समाज में मान-सम्मान, उच्च पद पर कार्यरत व नेता बनना संभव है। तीसरी/सातवीं संतान पुरूष होने पर उसे विशेष लाभ मिलेगा।


साउथ-साउथईस्ट सड़क टक्करः प्लॉट/भवन के साउथ-साउथईस्ट भाग में सडक टक्कर होने पर महिलाएँ स्वस्थ रहेंगी, स्वभाव विनम्र होगा व समाज में मान-सम्मान होगा। दूसरी/छठी संतान स्त्री होने पर उसे विशेष लाभ मिलेगा।
विदिशा प्लॉट


नार्थ-ईस्ट सड़क टक्करः प्लॉट/भवन के पूरे नार्थ-ईस्ट भाग या मध्य से पूर्व की तरफ सडक टक्कर लगने पर निवासी बुद्विमान, धार्मिक, मेहनती, ईमानदार, शिक्षित व उच्च पद पर कार्यरत व धन की प्राप्ति होगी। घर के मुखिया व पहली संतान को विशेष लाभ मिलेगा।



पूर्व सड़क टक्करः प्लॉट/भवन के पूर्व कोने में सडक टक्कर होने पर पुरूष बुद्विमान, स्वस्थ, धार्मिक, निर्मल स्वभाव व समाज में प्रतिष्ठित होंगे।



उत्तर सडक टक्करः प्लॉट/भवन के उत्तर कोने में सड क टक्कर होने पर महिलाएँ स्वस्थ, बुद्विमान, धार्मिक व निर्मल स्वभाव की होंगी। धन की प्राप्ति होगी।
प्लॉट/भवन में कोना बढ़ना
प्लॉट/भवन का नार्थ-ईस्ट कोना बढना अत्यधिक शुभ है।
दिशा प्लॉट
नार्थ-ईस्ट कोना बढनाः निवासी बुद्विमान, धार्मिक, मेहनती, ईमानदार, शिक्षित व उच्च पद पर कार्यरत व धन की प्राप्ति होगी। घर के मुखिया व पहली संतान को विशेष लाभ मिलेगा।

नार्थ-नार्थईस्ट कोना बढ़ना : महिलाएँ बुद्विमान, धार्मिक, निर्मल स्वभाव, शिक्षित व उच्च पद पर कार्यरत होंगी। पुरूष महिलाओं की अपेक्षा कमजोर रहेंगे। पहली संतान स्त्री होने पर वह स्वस्थ व सुखी रहेगी।

ईस्ट-नार्थईस्ट कोना बढना : पुरूष बुद्विमान, धार्मिक, मेहनती, ईमानदार, शिक्षित व उच्च पद पर कार्यरत होंगे। पहली संतान पुरूष होने पर वह स्वस्थ व सुखी रहेगा।

विदिशा प्लॉट


पूर्व कोना बढ़ना : पूर्व कोने में सडक टक्कर होने पर पुरूष बुद्विमान, स्वस्थ, धार्मिक, निर्मल स्वभाव व समाज में प्रतिष्ठित होंगे।
पश्चिम/दक्षिण/साउथ-वेस्ट में पहाड़/ऊँची ईमारत इत्यादि होना।
प्लॉट/भवन के पश्चिम/दक्षिण/साउथ-वेस्ट में पहाड , ऊँची ईमारतें इत्यादि होना शुभ होता है।
दिशा प्लॉट                                                     विदिशा प्लॉट
पश्चिम में पहाड़ इत्यादिः पुरूष स्वस्थ रहेंगे, मान-सम्मान व आत्मविश्वास में वृद्वि होगी। पुरूष थोडे आलसी होंगे किन्तु इन्हें कम मेहनत में अच्छे परिणाम मिलेंगे।

दक्षिण में पहाड इत्यादिः महिलाएँ स्वस्थ रहेंगी, स्वभाव निर्मल होगा, मान-सम्मान व आत्मविश्वास में वृद्वि होगी। धन की कमी नहीं रहेगी।

साउथ-वेस्ट में पहाड़ इत्यादि : निवासी स्वस्थ रहेंगे, मान-सम्मान व आत्मविश्वास में वृद्वि होगी व कम मेहनत में अच्छे परिणाम मिलेंगे। घर के मुखिया व पहली संतान को विशेष लाभ मिलेगा।

पूर्व/उत्तर/नार्थ-ईस्ट में तालाब, कुआँ, गढ़ढा, ढलान होना।
प्लॉट/भवन के पूर्व/उत्तर/नार्थ-ईस्ट में तालाब, कुआँ, गढ्‌ढा, ढलान इत्यादि होना शुभ होता है।
दिशा प्लॉट                                                     विदिशा प्लॉट
पूर्व में तालाब इत्यादिः पुरूष बुद्विमान, स्वस्थ, धार्मिक, निर्मल स्वभाव व समाज में प्रतिष्ठित होंगे।

उत्तर में तालाब इत्यादिः महिलाएँ स्वस्थ, बुद्विमान, धार्मिक व निर्मल स्वभाव की होंगी। धन की प्राप्ति होगी।

नार्थ-ईस्ट में तालाब इत्यादिः निवासी बुद्विमान, धार्मिक, मेहनती, ईमानदार, शिक्षित व उच्च पद पर कार्यरत व धन की प्राप्ति होगी। घर के मुखिया व पहली संतान को विशेष लाभ मिलेगा।